No icon

24hnbc

नवरात्रि पर्व स्वयं को साधने का पर्व है..... सीपी सिंह

24hnbc.com
समाचार :-
बिलासपुर, 4 अक्टूबर 2022। देश भर में नवरात्रि पर्व की धूम है। उससे हटकर देशभर के गायत्री शक्तिपीठों में जिस साधना, उपासना और आत्म बल को मजबूत करने के लिए नवरात्रि का आयोजन होता है वह विशेष है। बिलासपुर विद्या नगर स्थित गायत्री शक्तिपीठ में 13 नवंबर 1994 को अखंड दीप प्रज्वलित किया गया जो सतत प्रकाश में है और असतो मा सद्गमय का संदेश देता चल रहा है। शक्तिपीठ के मुख्य ट्रस्टी सीपी सिंह ने अष्टमी की संध्या पर अपना उद्बोधन देते हुए कहा कि नवरात्रि साधना पर्व है तन की पवित्रता, मन की पवित्रता स्वयं को साधने की प्रवृत्ति इस बात के लिए कि मानव जीवन मिला है ऋण चुकाने के लिए और स्वयं के उत्थान के लिए साधना से जीवन परिष्कृत होता है मनुष्य जीवन अनमोल है क्योंकि इस योनि में हमारे पास विवेक है तभी तो हम जल, थल, वायु के सभी जीवो में सर्वश्रेष्ठ हैं। जब हमारे भीतर बीज रूप में ही सब गुण विद्यमान हैं तो उनका उदय क्यों नहीं होता... कारण साफ है हम स्वयं को परिमार्जित नहीं करते। समर्पण से ही जीवन का रास्ता खुलता है किंतु हमारा अहम हमें समर्पित नहीं होने देता। उन्होंने कहा कि ईश्वर ने सबको 24 घंटे का समय ही दिया है पर जब हमारी देने की बारी आती है तो हम 24 घंटे में से 2 घंटे भी परम शक्ति को नहीं देते जब देने जाते हैं तो सिर्फ मांगते हैं मांगने से कभी किसी का पेट नहीं भरता जब पेट नहीं भरता तो आत्मा कैसे भरेगी। आत्मा का भोजन आध्यात्मिक विज्ञान है जो हम लेने की कोशिश ही नहीं करते हैं उन्होंने कहा कि जीवन में गुरु की महिमा समझे बिना रास्ता नहीं मिल सकता जिस पवित्र भाव से हम 9 दिन मंदिर आते हैं क्या साल के शेष दिन हम इसी पवित्र भाव से नहीं रह सकते गायत्री परिवार का धेय वाक्य है । हम बदलेंगे युग बदलेगा हम सुधरेंगे युग सुधरेगा तो परिवर्तन की शुरुआत सुधरने की शुरुआत स्वयं से ही करनी है। आज नवमी तिथि को शक्ति पीठ में हवन के बाद कन्या पूजन एवं भोजन के उपरांत नवरात्रि पर्व का विधि पूर्वक समापन होगा।